भारत कैसे तैयारी करें नयी विश्व-व्यवस्था से निपटने के लिए

कई विश्लेषकों का अनुमान है कि विश्व एक और शीत युद्ध की ओर अग्रसर हो रहा है। ऐसे में अमरीका और चीन दोनों वैश्वीकरण से जैसे-जैसे दूर होंगे, भारत की भूमिका और अहम हो जाएगी। एक उपाय है जिससे भारत इस संकट को खुद के लिए मौके में बदल सकता है – व्यापार शर्तों का उदारीकरण।

राहत की बात यह है कि एक नए शीत युद्धकाल में भी भारत को किसी एक को चुनने की जरूरत नहीं होगी – हमें दोनों गुटों के झगड़े का फायदा उठाने की कोशिश करनी होगी। न सिर्फ अमरीका और चीन, बल्कि रूस, ईरान और ऑस्ट्रेलिया जैसे देश भी भारत से रिश्ते बेहतर करने की कोशिश करेंगे। यह स्वर्णिम अवसर होगा भारत के लिए।

Read full article on Rajasthan Patrika.